भूस्खलन

मध्य प्रदेश के भूस्खलन खतरे

बिल्डिंग मैटेरियल प्रमोशन काउंसिल (बी.एम.पी.टी.सी) द्वारा जारी किये गये vulnerability Atlas के अनुसार मध्यप्रदेश के मध्य तथा दक्षिणी पूर्व भू-भाग मध्यम से कम स्तर के भूस्खलन क्षेत्रों में आते हैं । मध्यप्रदेश के पंचमढ़ी-नागद्वारी, कजरी-नागद्वारी, कालाझार, चिन्तामन का क्षेत्र जिला होशंगाबाद, बुदनी तथा बरखेड़ा घाट क्षेत्र जिला सीहोर, मुक्तागिरि क्षेत्र जिला बैतूल, सोनागिरी जैन मंदिर तथा राजगढ़ पैलेस पहाड़ी जिला दतिया भूस्खलन प्रभावित क्षेत्रों के अंतर्गत आते हैं ।

Landslide

 

 

अंतिम बार अपडेट किया:04 Jan, 2021

नया क्या है
  • लू के प्रभाव से बचाव हेतुnew-iconऔर पढ़ें
  • जन समुदाय को आकाशीय बिजली - वज्रपात आदि प्राकृतिक आपदाओं से बचाव हेतु सुझाव - 2022new-iconऔर पढ़ें
  • लू सुरक्षा नियम का रखें ध्यानnew-iconऔर पढ़ें
  • लू (तापघात) से बचावnew-iconऔर पढ़ें
  • लू (तापघात) के प्रकोप से बचाव हेतु जिला प्रबंधन प्राधिकरण एवं विभागों को सुझाव बाबतnew-iconऔर पढ़ें

आपातकालीन संपर्क

Wheather-Photo